Monday, March 4, 2024
HomeReligiousKuber Chalisa कुबेर चालीसा - Lyrics in Hindi, PDF & Image

Kuber Chalisa कुबेर चालीसा – Lyrics in Hindi, PDF & Image

Kuber Chalisa कुबेर चालीसा – हम भक्तों के लिए हिंदी में श्री कुबेर चालीसा साझा करने जा रहे हैं। We are going to share Shri Kuber Chalisa in Hindi lyrics for devotees. Here is Shri Kuber Chalisa lyrics in Hindi and PDF.

Kuber Chalisa | meaningfulhindi.com
Kuber Chalisa कुबेर चालीसा

Shri Kuber Chalisa श्री कुबेर चालीसा

श्री कुबेर चालीसा

॥ दोहा ॥

जैसे अटल हिमालय और जैसे अडिग सुमेर ।
ऐसे ही स्वर्ग द्वार पै, अविचल खड़े कुबेर ॥
विघ्न हरण मंगल करण, सुनो शरणागत की टेर ।
भक्त हेतु वितरण करो, धन माया के ढ़ेर ॥

॥ चालीसा ॥

जै जै जै श्री कुबेर भण्डारी ।
धन माया के तुम अधिकारी ॥
तप तेज पुंज निर्भय भय हारी ।
पवन वेग सम सम तनु बलधारी ॥

स्वर्ग द्वार की करें पहरे दारी ।
सेवक इंद्र देव के आज्ञाकारी ॥
यक्ष यक्षणी की है सेना भारी ।
सेनापति बने युद्ध में धनुधारी ॥

महा योद्धा बन शस्त्र धारैं ।
युद्ध करैं शत्रु को मारैं ॥
सदा विजयी कभी ना हारैं ।
भगत जनों के संकट टारैं ॥

प्रपितामह हैं स्वयं विधाता ।
पुलिस्ता वंश के जन्म विख्याता ॥
विश्रवा पिता इडविडा जी माता ।
विभीषण भगत आपके भ्राता ॥

शिव चरणों में जब ध्यान लगाया ।
घोर तपस्या करी तन को सुखाया ॥
शिव वरदान मिले देवत्य पाया ।
अमृत पान करी अमर हुई काया ॥

धर्म ध्वजा सदा लिए हाथ में ।
देवी देवता सब फिरैं साथ में ।
पीताम्बर वस्त्र पहने गात में ॥
बल शक्ति पूरी यक्ष जात में ॥

स्वर्ण सिंहासन आप विराजैं ।
त्रिशूल गदा हाथ में साजैं ॥
शंख मृदंग नगारे बाजैं ।
गधर्व राग मधुर स्वर गाजैं ॥

चौंसठ योगनी मंगल गावैं ।
ऋद्धि सिद्धि नित भोग लगावैं ॥
दास दासनी सिर छत्र फिरावैं ।
यक्ष यक्षणी मिल चंवर ढूलावैं ॥

ऋषियों में जैसे परशुराम बली हैं ।
देवन्ह में जैसे हनुमान बली हैं ॥
पुरुषोंमें जैसे भीम बली हैं ।
यक्षों में ऐसे ही कुबेर बली हैं ॥

भगतों में जैसे प्रहलाद बड़े हैं ।
पक्षियों में जैसे गरुड़ बड़े हैं ॥
नागों में जैसे शेष बड़े हैं ।
वैसे ही भगत कुबेर बड़े हैं ॥

कांधे धनुष हाथ में भाला ।
गले फूलों की पहनी माला ॥
स्वर्ण मुकुट अरु देह विशाला ।
दूर दूर तक होए उजाला ॥

कुबेर देव को जो मन में धारे ।
सदा विजय हो कभी न हारे ।।
बिगड़े काम बन जाएं सारे ।
अन्न धन के रहें भरे भण्डारे ॥

कुबेर गरीब को आप उभारैं ।
कुबेर कर्ज को शीघ्र उतारैं ॥
कुबेर भगत के संकट टारैं ।
कुबेर शत्रु को क्षण में मारैं ॥

शीघ्र धनी जो होना चाहे ।
क्युं नहीं यक्ष कुबेर मनाएं ॥
यह पाठ जो पढ़े पढ़ाएं ।
दिन दुगना व्यापार बढ़ाएं ॥

भूत प्रेत को कुबेर भगावैं ।
अड़े काम को कुबेर बनावैं ॥
रोग शोक को कुबेर नशावैं ।
कलंक कोढ़ को कुबेर हटावैं ॥

कुबेर चढ़े को और चढ़ादे ।
कुबेर गिरे को पुन: उठा दे ॥
कुबेर भाग्य को तुरंत जगा दे ।
कुबेर भूले को राह बता दे ॥

प्यासे की प्यास कुबेर बुझा दे ।
भूखे की भूख कुबेर मिटा दे ॥
रोगी का रोग कुबेर घटा दे ।
दुखिया का दुख कुबेर छुटा दे ॥

बांझ की गोद कुबेर भरा दे ।
कारोबार को कुबेर बढ़ा दे ॥
कारागार से कुबेर छुड़ा दे ।
चोर ठगों से कुबेर बचा दे ॥

कोर्ट केस में कुबेर जितावै ।
जो कुबेर को मन में ध्यावै ॥
चुनाव में जीत कुबेर करावैं ।
मंत्री पद पर कुबेर बिठावैं ॥

पाठ करे जो नित मन लाई ।
उसकी कला हो सदा सवाई ॥
जिसपे प्रसन्न कुबेर की माई ।
उसका जीवन चले सुखदाई ॥

जो कुबेर का पाठ करावै ।
उसका बेड़ा पार लगावै ॥
उजड़े घर को पुन: बसावै ।
शत्रु को भी मित्र बनावै ॥

सहस्त्र पुस्तक जो दान कराई ।
सब सुख भोद पदार्थ पाई ।
प्राण त्याग कर स्वर्ग में जाई ।
मानस परिवार कुबेर कीर्ति गाई ॥

॥ दोहा ॥

शिव भक्तों में अग्रणी,
श्री यक्षराज कुबेर ।
हृदय में ज्ञान प्रकाश भर,
कर दो दूर अंधेर ॥

कर दो दूर अंधेर अब,
जरा करो ना देर ।
शरण पड़ा हूं आपकी,
दया की दृष्टि फेर ।

कुबेर चालीसा एक भक्ति भजन या प्रार्थना है जो भगवान कुबेर को समर्पित है, जिन्हें हिंदू धर्म में धन का कोषाध्यक्ष और धन का संरक्षक माना जाता है। इस चालीसा में भगवान कुबेर की प्रशंसा करते हुए उनसे धन और समृद्धि के लिए उनका आशीर्वाद मांगते हैं। यहां कुबेर चालीसा के महत्व पर प्रकाश डालने वाले कुछ प्रमुख बिंदु दिए गए हैं जैसे कि – “वित्तीय कल्याण, व्यापार में सफलता और समग्र भौतिक समृद्धि के लिए”, “वित्तीय ज्ञान और प्रबंधन के लिए”, “धन और संपत्ति को चोरी से सुरक्षित रखने के लिए” आदि। इनके साथ साथ “धन के आध्यात्मिक पहलू से जुड़ने के लिए”, “आंतरिक समृद्धि के लिए” कुबेर चालीसा का जप करके भगवन श्री कुबेर जी का आशीर्वाद प्राप्त किया जा सकता है।

Shri Kuber Chalisa is a devotional hymn or prayer dedicated to Lord Kuber, who is considered the treasurer of wealth and guardian of wealth in Hinduism. In this Kuber Chalisa, people praise Lord Kuber and seek his blessings for wealth and prosperity. Here are some key points highlighting the importance of Kuber Chalisa such as – “For financial well-being, success in business and overall material prosperity”, “For financial knowledge and management”, “To protect money and property from theft To keep” etc. Along with these, the blessings of Lord Shri Kuber Ji can be obtained by chanting Kuber Chalisa “to connect with the spiritual aspect of wealth”, and “for inner prosperity”.

Like our Facebook page and follow our Instagram account of Meaningfulhindi to know more information about Shri Kuber Chalisa Hindi mein Lyrics (श्री राधा चालीसा हिंदी में लिरिक्स).

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments