Monday, March 4, 2024
HomeGrammarJati Vachak Sangya जातिवाचक संज्ञा - परिभाषा, उदाहरण, भेद, प्रकार

Jati Vachak Sangya जातिवाचक संज्ञा – परिभाषा, उदाहरण, भेद, प्रकार

जातिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं ? Jati Vachak Sangya Kise Kahate Hain ? इस लेख को पूरा पढ़े और जाने कि जातिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं (Jativachak Sangya Kise Kehte Hai), जातिवाचक संज्ञा की परिभाषा (Jati Vachak Sangya Ki Paribhasha), जातिवाचक संज्ञा के कितने भेद हैं (Jati Vachak Sangya Ke Kitne Bhed Hai), जातिवाचक संज्ञा के प्रकार (Types of Jativachak Sangya) और जातिवाचक संज्ञा के उदाहरण (Jati Vachak Sangya Ke Udaharan और Jativachak Sangya Examples) के बारे में।

संज्ञा की परिभाषा, प्रकार, भेद, प्रकार और उदाहरणों के बारे में जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें – Sangya Kise Kahate Hain

Jati Vachak Sangya Kise Kahate Hain जातिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं

Jati Vachak Sangya

जातिवाचक संज्ञा की परिभाषा (Jati Vachak Sangya Ki Paribhasha) = किसी जाति के सम्पूर्ण पदार्थों एवं उनके समूहों का बोध कराने वाली संज्ञा जातिवाचक संज्ञा कहलाती है। जातिवाचक संज्ञा को अर्थवान माना गया है। अधिकांश पदार्थों का बोध जातिवाचक संज्ञाओं से ही हो जाता है। जैसे:

01) सामाजिक संबंधों, पदों और कार्यों के नाम = इसका क्षेत्र बहुत ही विस्तृत है – भाई, बहन, चाचा, जुलाहा, बाबू, अधिकारी, प्राध्यापक, चोर, ठग, नेता, लोहार, कुम्हार, चर्मकार, मूर्तिकार, चित्रकार, अभिनेता, दर्शक आदि।
02) प्राकृतिक आपदाओं के नाम = ज्वालामुखी, भूकम्प वर्षा, बिजली, भूस्खलन, आँधी, तूफान आदि।
03) पशु-पक्षियों के नाम = गाय, गौरैया, तोता, मैना, भैंस, बैंल, सिंह, सियार, हाथी, गैंडा आदि।
04) वस्तुओं के नाम = घड़ी, पुस्तक, टेबुल, कलम, दावात, दुकान, भवन, पुल, कपड़ा आदि। इनका विस्तार अनन्त है। आवश्यकता संबंधी लगभग सभी वस्तुएँ इस संज्ञा के अर्न्तगत आती है।

जातिवाचक संज्ञा के उदाहरण (Jati Vachak Sangya Ke Udaharan) =

  1. जंगल में घोड़े दौड़ रहे है।
  2. पक्षि ऊँचा जरूर उड़ते है है पर पानी पीने के लिए धरती पर आना ही पड़ता है।
  3. डॉक्टर भगवान का रूप होते है।
  4. हमारे घोड़े हल्की काठी पहनकर ज्यादा खुश हैं।
  5. वे बिल्लियाँ कभी भी उन बक्सों के अंदर और बाहर एक-दूसरे का पीछा करते नहीं थकतीं।
  6. बच्चे मन के सच्चे होते है।
  7. पुस्तको से बहुत कुछ सीखने को मिलता है।
  8. चोरो ने आजकल नाक में दम कर रखा है।
  9. भूकम्प और भूस्खलन के कारण सभी लोगो का बहुत नुक्सान हुआ।
  10. गाय का दूध बहुत फायदेमंद होता है।

Like our Facebook page and follow our Instagram account to know more information about Jati Vachak Sangya in Hindi (जातिवाचक संज्ञा हिंदी में).

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments