Tuesday, February 20, 2024
HomeLetterKusangati Se Bachne Ke Liye Patra Chote Bhai ko कुसंगति से बचने...

Kusangati Se Bachne Ke Liye Patra Chote Bhai ko कुसंगति से बचने के लिए अपने छोटे भाई को पत्र लिखिए

कुसंगति से बचने के लिए अपने छोटे भाई को पत्र लिखिए – Write a letter to small brother on topic Kusangati se bachne ke liye Patra in Hindi for class 7,8, 9, 10, 11 and 12 students.

Kusangati Se Bachne Ke Liye Patra

Kusangati Se Bachne Ke Liye Patra

तुम्हारा नाम अजय है, तुम्हे अपने छोटे भाई अर्जुन को कुसंगति से बचने के लिए पत्र लिखना है।

16, सोनीपत, हरियाणा
14.6.2018
प्रिय अर्जुन,
शुभाशीष।

मुझे यह जानकर बहुत ख़ुशी हुई कि वार्षिक परीक्षा में तुमने प्रथम स्थान प्राप्त किया है। पिताजी भी बहुत खुश है। अब तुम मिडिल से हाई स्कूल में आ गए हो, जहा तुम्हारे कई नए मित्र बनेंगे, जिनमें कुछ अच्छे होंगे और कुछ बुरे भी। मेरा यह पत्र लिखने का मकसद तुमको बधाई देना और आगे बुरी संगत से बचने के लिए लिख रहा हूँ। तुम्हें बुरे साथियों से बचकर रहना होगा। बुरों की संगति सदैव बुरी होती है। कबीर ने कहा है –

‘संगति बुरी असाधु की आठों पहर उपाधि।’ अर्थात् बुरे लोगों के संग-साथ से भले ही दुर्गुण न आएँ; मगर बदनामी तो मिलती ही है। इसलिए तुम कुसंगति से बचकर रहना होगा और सदाचरणवाले छात्रों से मेलजोल बढ़ाना होगा। सत्संगति इत्र निकालनेवाले के घर के समान होती है। यदि गंधी कुछ न दे तब भी उससे सुगंध तो मिलेगी ही।

तुम्हारा भाई,
अजय

Like our Facebook page and follow our Instagram account of Meaningfulhindi to know more information about Kusangati se bachne ke liye Patra Chote Bhai ko कुसंगति से बचने के लिए अपने छोटे भाई को पत्र.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments