Tuesday, February 20, 2024
HomeLetterLetter to Nanad in Hindi नानद को पत्र हिंदी में

Letter to Nanad in Hindi नानद को पत्र हिंदी में

जाने ननद को पत्र हिंदी में कैसे लिखें। Write a letter to Nanad in Hindi language with format for students of class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 and 12.

Letter to Nanad in Hindi नानद को पत्र हिंदी में

Letter to Nanad in Hindi

Letter 1 – विपत्ति में धैर्य रखने का उपदेश देते हुए भाभी का पत्र ननद को। Write a letter to Nanad in Hindi preaching to be patient in adversity.

हल्द्वानी
9.3.2020

श्रीमती पूज्या बीबीजी,
सादर नमस्ते।

छोटी जीजी के पत्र से पता चला कि आपके घर में चोरी हो गई है। दुष्ट चोर सब धन चुराकर ले गए है और इसके कारण आप सभी अत्यंत दुखी हैं। यह दुःखदायी वृत्तांत पढ़कर चित्त को बड़ा ही दुःख हुआ। परंतु बीबीजी, आप किसी प्रकार से घबराएँ नहीं; इस विपत्ति में मैं तन-मन तथा धन से यथाशक्ति आपका साथ दूंगी। वैसे तो पुलिस अपना काम कर रही है पर अगर चोरी गया हुआ धन न मिले तो आप धीरज रखना। क्योंकि विपत्ति के समय धीरज ही मनुष्य का परम धर्म है। उस भगवान पर भरोसा रखना चाहिए, जिसने पहले दिया था, वही फिर देगा। पैसे का कोई बात नहीं फिर से कमाया जा सकता है पर इस सब का अपनी सेहत पर असर न पड़ने देना।

मैं आपसे सच्ची सहानुभूति रखती हुई विपत्ति में आपकी सहायता करना अपना धर्म समझती हूँ। मोहनजी के हाथ अपना आधा जेवर-सोने के कड़े और चार चीजें पैरों की-भेज रही हूँ। पाँच हजार रुपए जीजाजी के नाम बैंक ड्राफ्ट से भेज दिए हैं। इन रुपयों से जीजाजी अपना काम चलाएँ। परसो से बच्चों की परीक्षा शुरू होने वाली है। मैं अगले महीने और पैसे लेकर तुम्हारे घर आ रही हूँ। मैं आशा करती हूँ कि आप भेंट को सहर्ष स्वीकार करेंगी और भेजी हुई वस्तुएँ पहुँचने की सूचना शीघ्र देंगी।

आपकी भाभी
सरिता

Like our Facebook page and follow our Instagram account.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments