Wednesday, June 19, 2024
HomeLetterSamay Ka Sadupyog Par Patra समय का सदुपयोग पर पत्र

Samay Ka Sadupyog Par Patra समय का सदुपयोग पर पत्र

Samay Ka Sadupyog Par Patra in Hindi – Write samay ka sadupyog par patra to your brother or sister in Hindi for students of class 6, 7, 8, 9 and 10.

Samay Ka Sadupyog Par Patra in Hindi समय का सदुपयोग पर पत्र

Samay Ka Sadupyog Par Patra

Letter 1 – बड़ी बहन का पत्र छोटे भाई के नाम – समय का सदुपयोग और परिश्रम पर बल देते हुए। Apne chhote bhai ko samay ke sadupyog ki salah dete hue patra likhiye.

जी ब्लॉक, कटक कॉलोनी.
नागपुर
दिनांक……
प्रिय भाई दीपक,
शुभाशीष।

कल रविवार को घर गई तो पिताजी से पता चला कि इस वर्ष तुम्हारा परीक्षा परिणाम अच्छा नहीं रहा, जिससे पिताजी व मुझे काफी दुःख हुआ।

प्यारे भाई, हम सभी तुम्हारे उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हैं। उज्ज्वल भविष्य के लिए छात्रों को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है और मेहनत का फल सदैव मीठा होता है। अतः तुम्हें कठिन परिश्रम करना चाहिए। दूसरी महत्त्वपूर्ण बात यह गाँठ बाँध लो कि समय किसी की प्रतीक्षा नहीं करता और बुरी संगत वाले मित्रो से दूर रहो। तुम्हें अपना बहुमूल्य समय मित्रों के साथ बैठकर गपशप लड़ाने में नहीं गँवाना है। आशा है, नियमित रूप से कम-से-कम पाँच घंटे प्रतिदिन पढ़कर हम लोगों की आशा को पूर्ण करने की कोशिश करोगे, ताकि परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर सको।

अपने स्वास्थ्य पर भी ध्यान दिया करो। शाम का कुछ समय खेलकूद के लिए भी रखा जा सकता है। इस तरह समयबद्ध जीवन व्यतीत करनेवाले छात्रों का भविष्य सदैव उज्ज्वल रहता है। मुझे पूरी उम्मीद है कि तुम मेरे इस सुझाव पर अवश्य ही गौर करोगे और आगे कभी भी हमे शिकायत का मौका नहीं दोगे। तुम्हारे उज्ज्वल भविष्य में ही हमारी ख़ुशी है।

तुम्हारी शुभचिंतिका
रजनी शर्मा

Letter 2 – पढ़ाई के संबंध और समय का सदुपयोग पर पत्र छोटे भाई को। Padhai ke sambandh aur samay ka sadupyog par patra Bhai ko Hindi mein.

526, प्रीत नगर,
नई दिल्ली
22.5.2005

प्रिय कमलेश,

सदा प्रसन्न रहो। चार दिन पहले तुम्हारा पत्र मुझे मिला, परंतु अस्वस्थता के कारण मैं पत्रोत्तर न लिख सका। मुझे पिताजी का भी एक पत्र मिला है, जिससे पढ़कर मैं बहुत चिंतित हो गया हूँ क्योकि पिताजी को अपने एक मित्र से पता चला है कि तुम अच्छी तरह से पढ़ाई नहीं कर रहे हो, और अपना अधिकतर समय गपशप, सिनेमा तथा ताश खेलने में व्यतीत करते हो। तुम्हें पता है कि पिताजी अपना खून-पसीना एक कर हम लोगों को शिक्षा के लिए साधन एकत्र करते हैं। ऐसी स्थिति में यदि हम लोग उनके धन तथा अपने समय का सदुपयोग नहीं करते, तो यह उनके प्रति घोर अन्याय है। भाई, हर काम सीमा के भीतर ही ठीक होता है। यह समय तो अधिक-से-अधिक अध्ययन करने का है। ऐसी स्थिति में तुम्हें अपना समय पढ़ने में ही लगाना चाहिए। मुझे पूर्ण विश्वास है कि भविष्य में तुम्हारे बारे में ऐसी बातें सुनने को न मिलेंगी और तुम परिश्रम से पढ़कर अच्छे अंकों से उत्तीर्ण होगे। पत्र का उत्तर देना। पिताजी को भी एक पत्र आवश्य लिखना।

तुम्हारा
ओम प्रकाश

Stay connected to know more information about samay ka sadupyog par patra to your brother or sister in Hindi. Like our Facebook page and follow our Instagram account.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments