Tuesday, February 27, 2024
HomeBiographyAbhimanyu Mishra Biography in Hindi - अभिमन्यु मिश्रा का जीवन परिचय

Abhimanyu Mishra Biography in Hindi – अभिमन्यु मिश्रा का जीवन परिचय

आज हम बात करेंगे दुनिया के सबसे युवा ग्रैंडमास्टर अभिमन्यु मिश्रा (Abhimanyu Mishra) के बारे में। यहां मैं अभिमन्यु मिश्रा के बारे में उनकी जीवनी (biography), उम्र (age), राष्ट्रीयता (nationality), विकी (wiki), मूल (origin), परिवार (family), माता-पिता (parents) और उनसे जुड़ी हर चीज जैसी सभी जानकारी साझा करने जा रहा हूं।

Abhimanyu Mishra Biography in Hindi – अभिमन्यु मिश्रा का जीवन परिचय

अभिमन्यु मिश्रा भारतीय मूल के एक अमेरिकी शतरंज खिलाड़ी है जिन्होंने अपनी छोटी सी आयु में ही बहुत कीर्तिमान हांसिल कर लिए है। यह वर्तमान में रिकॉर्ड कायम कर दुनिया के सब सबसे कम उम्र के ग्रैंडमास्टर है। अभिमन्यु मिश्रा 12 वर्ष 4 महीने 25 दिनों की उम्र में किताब पाने वाले दुनिया के पहले ग्रैंड मास्टर हैं। अभिमन्यु का जन्म 5 फरवरी 2009 को अमेरिका के न्यूजर्सी में हुआ। अभिमन्यु के पिता जी हेमंत पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर है और इनकी माँ का नाम स्वाति है। अभिमन्यु के माता-पिता जो भोपाल, मध्य प्रदेश, भारत में रहते थे, वर्ष 2006 में वे भारत से अमेरिका में जाकर बस गए। अभिमन्यु के माता-पिता ने अपने बेटे के सपने को पूरा करने के लिए हर संभव मदद की।

अभिमन्यु मिश्रा के वर्तमान कोच न्यू जर्सी किंग्स एंड क्वींस एकेडमी (New Jearsy Kings & Queens Academy) के महेश चंद्रन है। मिश्रा ने 7 साल 6 महीने 22 दिनों की उम्र में सन 2000 में USCF rating earn करके सबसे कम उम्र के विशेषज्ञ के लिए यूनाइटेड स्टेट्स शतरंज फेडरेशन (United States Chess Federation) के रिकॉर्ड को तोड़ दिया और अवंडर लिआंग (Awonder Liang) का रिकॉर्ड भी तोड़ दिआ। इसके बाद अभिमन्यु मिश्रा ने 9 साल 2 महीने 17 दिन की उम्र में 2200 USCF rating earn करके सबसे कम उम्र के अंतरराष्ट्रीय मास्टर के लिए यूनाइटेड स्टेट्स (United States) के शतरंज रिकॉर्ड को तोड़ दिया। अभिमन्यु मिश्रा ने सबसे कम उम्र के अंतरराष्ट्रीय मास्टर का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया।

1 ख़िताब उन्होंने नवंबर 2019 को 10 साल 9 महीने 20 दिनों की उम्र में अर्जित किया और रमेश बाबू प्रज्ञानानंद का रिकॉर्ड तोड़ दिया। FIDE ने अभिमन्यु मिश्रा को 9 फरवरी 2020 में उपाधि से सम्मानित किआ। जून 2021 में अभिमन्यु मिश्रा ने नौवें दौर में इंडियन ग्रैंड मास्टर लीओन लीयूक मेंडोंका (Leon Luke Mendonca) को हराकर बुडापेस्ट (Budapest) में पहला स्थान प्राप्त किया। अभिमन्यु मिश्रा ने इस प्रकार अपना तीसरा और शतरंज के इतिहास में सबसे कम उम्र के ग्रैंड मास्टर बन गए।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments