Monday, March 4, 2024
HomeBiographyChirag Paswan Biography in Hindi – चिराग पासवान का जीवन परिचय

Chirag Paswan Biography in Hindi – चिराग पासवान का जीवन परिचय

आज हम बात करेंगे इंडियन पॉलीटिशियन और अभिनेता चिराग पासवान (Chirag Paswan) के बारे में। इनका पूरा नाम चिराग कुमार पासवान (Chirag Kumar Paswan) है। चलिए पढ़ते है चिराग पासवान से सम्बंधित सभी जानकारियों के बारे में जैसे के उनकी जीवनी (biography), उम्र (age), राष्ट्रीयता (nationality), विकिपीडिया (wikipedia), मूल (origin), परिवार (family), माता-पिता (parents), घर (home), मोबाइल नंबर (contact number) आदि।

Chirag Paswan Biography in Hindi – चिराग पासवान का जीवन परिचय

चिराग पासवान लोक जनशक्ति पार्टी के पूर्व अध्यक्ष हैं। वह दिवंगत सांसद और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के पुत्र हैं। वर्तमान में Chirag Paswan बिहार के (Jamui) जमुई संसदीय क्षेत्र से MP है। चिराग पासवान 2014 में 16वी लोकसभा के सदस्य के रूप में चुने गए थे। राजनीति में प्रवेश करने से पहले उन्होंने बॉलीवुड में शुरुआत की, लेकिन यहां वह कुछ खास नहीं कर पाए।

चिराग के जीवन के बारे में बात की बात की जाए तो चिराग पासवान का जन्म 31 अक्टूबर 1982 को बिहार के खगरिया (Khagriya) में हुआ। चिराग पासवान की फैमिली की बात की जाए तो इनके माता-पिता के अलावा इनके तीन बहने हैं। फिलहाल चिराग unmarried है। उन्होंने अपनी स्कूलिंग नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग (National Institute of Open School) से की। चिराग पासवान ने 2003 में नई दिल्ली में स्थित स्वस्थशी संसथान से कंप्यूटर विज्ञानं में B.Tech किया। चिराग पासवान ने 2005 में झांसी बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी से इंस्टिट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी से कंप्यूटर इंजीनियरिंग में B.Tech 3rd सेमेस्टर पूरा किया। पासवान तीसरे सेमेस्टर के कॉलेज ड्रॉपआउट हैं।

इसके बाद चिराग पासवान ने कंगना रनौत के साथ हिंदी फिल्म “मिले ना मिले हम – Mile Na Mile Hum” में एक्टिंग की। फिल्म पर audience का ध्यान नहीं गया और यह box office पर कमाल नहीं दिखा पाई। इसके बाद पासवान ने जमुई की seat से लोकजनशक्ति पार्टी (Lokjanshakti Party) के लिए 2014 का चुनाव लड़ा। चिराग पासवान ने राष्ट्रीय जनता दल (Rashtriya Janata Dal) के नजदीकी प्रतिद्वंदी सुधांशु शेखर भास्कर को 85 हजार से अधिक वोटों से हराकर सीट जीत ली। पासवान ने 2019 के चुनाव में अपनी सीट बरकरार रखी। कुल 5028771 वोट हासिल किए और निकटतम प्रतिद्वंदी चौधरी (Bhudeo Choudhary) को हराया।

यह चिराग का रोजगार (Chirag ka Rojgar) नाम से एक एनजीओ (NGO) भी चलाते हैं जो उनके राज्य के बेरोजगार युवाओं को रोजगार प्रदान करने के एक foundation है। बिहार विधानसभा चुनाव 2020 से पहले चिराग पासवान ने बिहार के युवाओं का ध्यान आकर्षित करते हुए “बिहार पहले बिहारी पहले” अभियान शुरू किया। इसका उद्देश्य बिहार राज्य का संपूर्ण विकास करना है। चिराग पासवान ने यह भी कहा कि बिहार को एक नंबर राज्य बनाने की अत्यधिक आवश्यकता है।

27 फरवरी 2021 को लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 1.11 लाख रुपए का दान दिया। 14 जून 2021 को उनके चाचा पशुपति कुमार पारस द्वारा लोक जनशक्ति पार्टी (LJP Party) के लोकसभा नेता के रूप में बदल दिया गया था। 1 दिन बाद चिराग पासवान ने अपने चाचा पशुपति कुमार पारस और चचेरे भाई राजकुमार राज सहित पार्टी विरोधी गतिविधियों के लिए पांच बागी सांसदों को निष्कासित कर दिया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments