Sunday, June 23, 2024
HomeRecipeGond Ke Laddu Recipe in Hindi गोंद के लड्डू की रेसिपी

Gond Ke Laddu Recipe in Hindi गोंद के लड्डू की रेसिपी

यह मोंगरी गोंद के लड्डू पारंपरिक राजस्थानी गोंद के लड्डू हैं, जो गुड़ से बने होते हैं। बहुत लंबी शैल्फ जीवन के साथ, बहुत नरम और सर्दियों में ऊर्जा देता है। ये इतने स्वादिष्ट होते हैं कि आप इन लड्डूओं के अलावा और कोई मिठाई नहीं खायेंगे। तो चलिए शुरू करते है गोंद के लड्डू की रेसिपी (Gond ke Laddu ki Recipe Hindi mei) – Gond Ke Laddu Recipe in Hindi.

गोंद के लड्डू की रेसिपी – Gond Ke Laddu Recipe in Hindi

Gond Ke Laddu Recipe in Hindi

मोगरी गोंद के लड्डू रेसिपी के लिये आवश्यक सामग्री – Ingredients for Mongri Gond Ke Laddu Recipe in Hindi and English =

  • आटा (Wheat Flour) = एक कप, 150 ग्राम (1 Cup,150 grams)
  • घी (Ghee) = आधा कप, 150 ग्राम (1/2 Cup,150 grams)
  • दूध (Milk) = 3 चम्मच (3 tbsp)
  • गोंद (Gond) = 50 ग्राम (50 grams)
  • बादाम कतरन (Almond Flakes) = आधा कप, 50 ग्राम (1/2 Cup, 50 grams)
  • नारीयल (Dry Coconut) = आधा कप, 50 ग्राम (1/2 Cup, 50 grams
  • गुड़ (Jaggery) = एक कप, 200 ग्राम (1 Cup, 200 grams)
  • छोटी इलायची (Cardamom) = 8 no
  • सोंठ (Dry Ginger Powder) = 1 चम्मच (1 tsp)

गोंद के लड्डू की रेसिपी – Hindi Me Gond Ke Laddu Ki Recipe

1 कप गेहूं का आटा, वजन में 150 ग्राम। यह एक सामान्य आटा है जिससे हम चपाती बनाते हैं। इसमें 4 टेबल स्पून घी डाल दीजिए इसे अच्छे से मिलाएं। मिक्स करने के बाद इसमें 3 टेबल स्पून दूध डाल दीजिए। दूध को पहले गरम किया जाता है और ठंडा होने के बाद डाला जाता है। इन्हें अच्छे से मिला लें। दोनों चीजों को नाप कर देख लीजिए, क्योंकि अगर दूध ज्यादा डालेंगे तो आटा गूंथा हुआ लगेगा। हमें आटा गूंथना नहीं है, बस उसमें नमी लानी है। अब इसे अच्छे से दबा दें। आधा घंटे के लिए ढककर रख दें।

अब इस जमे हुए मिश्रण को मैश करके फिर से आटा बना लें। ऐसा करने से आटा मुलायम और फूला हुआ हो जाएगा और उसी से सॉफ्ट रवा बन जाएगा। और इससे बने हुए लड्डू एकदम सॉफ्ट और एकदम अलग स्वाद के होंगे। हमने आटा पूरी तरह से खोल लेना है, अब इसे छान लें। आटे को छानने के लिए चावल की छलनी में दबा-दबा कर सभी को छान लीजिये। आटे का रवा तैयार है।

अब चलते है गैस के पास। गोंद भूनने के लिये एक कढ़ाई लीजिये और उसमें घी डालिय। 150 ग्राम घी 1/2 कप से थोडा सा ज्यादा लेना है। जिसमें से हमने आटे में 4 टेबल स्पून मिलाया और बाकी घी को गर्म करे। 50 ग्राम गोंद जो 1/4 कप है, को छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ लीजिए, अगर बड़े टुकड़े होंगे तो गोंद ठीक से नहीं भुनेगा। घी पिघल कर गरम कर ले। गोंद घी भूनने के लिये कम गरम होना चाहिये, मध्यम से थोड़ा कम गरम। घी में 2 चम्मच गोंद डालिये। इसे लगभग आधा करके धीमी आंच पर पकने दें। जब गोंद धीमी आंच पर भुनता है तभी यह पूरी तरह से पकता है। आग तेज होगी और घी ज्यादा गरम होगा तो वह बाहर से तो पकेंगे लेकिन अंदर से कच्चे रह जयेगा। और स्वाद में अच्छा नहीं लगेगा। फूले हुए गोंद को पलट दीजिये। अब इसे अच्छे कलर आने तक और हल्का सुनहरा होने तक फ्राई करें। गोंद सिकने पर इसे निकाल लीजिए। बाकी बचे गोंद को भी इसी तरह तल लीजिए। गोंद तल कर तैयार है।

अब बचे हुए घी में बनाए हुए रवा को भून लें। गैस धीमी-मध्यम ही रहेगी, इसे लगातार चलाते हुए भून लीजिए। आपको कैसे पता चलेगा कि रवा भुन गया है? जब यह थोड़ा सा dark रंग का हो जाता है तो अच्छी महक आती है और किचन अच्छी सुगंध से भर जाता है। इसे लगातार चलाते रहना याद रखें। मोंगरी का रंग बदल गया है और रसोई उसकी महक से भर गई है। अब इसमें ड्राई फ्रूट्स डाल दें। 1/2 कप (50 ग्राम) बादाम मिलाएं और थोड़ा सा भून लें। वे कुरकुरे बनेंगे और अधिक स्वादिष्ट बनेंगे। 1/2 कप (50 ग्राम) कद्दूकस किया हुआ सूखा नारियल डालें। सूखे मेवों को आटे के साथ भूनने से उनकी नमी दूर हो जाती है, स्वाद बढ़ जाता है और शेल्फ लाइफ भी बढ़ जाती है। सूखा कद्दूकस किया हुआ नारियल ही लीजिये, कद्दूकस किया हुआ नारियल मत लीजिये, उसका स्वाद अच्छा नहीं आयेगा। इस मिश्रण को एक बाउल में निकाल लें।

साफ करके उसी पैन को लें। 1 कप गुड़ तोड़ लें, वजन 200 ग्राम। इसमें 1/4 कप पानी (4 टेबल स्पून) पानी डालें। गैस चालू करें और गुड़ के पिघलने तक पकाएं। इसे पिघलाते समय थोड़ा हिलाएं। हमने इसमें पानी डाला है, जिससे गुड़ जलेगा नहीं। तली हुई गोंद को तोड़ लीजिये। ये बहुत ही सॉफ्ट होते हैं इसलिए इन्हें प्लेट में ही तोड़ लें। इन्हें बेलन से भी तोड़ा जा सकता है। और अगर गोंद पूरी तरह से भुन गया हो तो इन्हें पीसने में कोई दिक्कत नहीं आती है। इसका पाउडर न बनाएं बस इन्हें छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ लें। यह बहुत मुलायम होते हैं और आसानी से टूट जाते हैं। गोंद को उसी प्याले में डाल दीजिए। गोंद और चाशनी को अच्छे से मिला लें। बीच में थोड़ी जगह बना लें। चाशनी को छान कर उसमें डाल दीजिये। गुड़ को छान लें। 1/2 चम्मच इलायची पाउडर, 1 छोटा चम्मच अदरक पाउडर, यह लड्डू को बहुत अच्छा स्वाद देता है और प्रकृति में थोड़ा गर्म होता है। सामग्री को अच्छी तरह मिलाएं। इनसे बहुत अच्छी सुगंध आयेगी। इन्हें मिला लें, अब इन्हें 10 मिनट के लिए छोड़ दें।

मोंगरी मेवा चाशनी को अच्छे से भिगो देंगे, फिर हम लड्डू बना लेंगे। 10 मिनट बाद यह थोड़ा ठंडा हो गया है। लड्डू बांधने के लिये हाथ पर थोड़ा सा घी लगाकर थोड़ा सा मिश्रण उठा कर बांध लीजिये। आप इन्हें अपनी पसंद के अनुसार छोटा या बड़ा बना सकते हैं। लड्डू बनकर तैयार है। हमने इसमें बादाम के गुच्छे और कसा हुआ सूखा नारियल डाला है। लेकिन अगर आप इन्हें बुजुर्गों के लिए बना रहे हैं, जिन्हें इन्हें चबाने में परेशानी होती है, तो फिर आप नारियल और बादाम को हल्का सा भून लें, फिर इन्हें पीस लें और फिर डालें। ऐसा करने से बुजुर्गों को चबाने में परेशानी नहीं होगी। लड्डू बनकर तैयार हैं।

मोंगरी गोंद के लड्डू तैयार हैं और यह थी गोंद के लड्डू की रेसिपी। आपको याद दिला दे कि रवा बनाते समय दूध और घी को माप कर डाले। इसे भूनते समय आंच धीमी-मध्यम ही रखें। गुड़ की चाशनी बनाते समय नापकर पानी डालें। ऐसा करने से बहुत ही स्वादिष्ट लड्डू बनेंगे। पूरी तरह से ठंडे होने के बाद इन्हें किसी भी एयर टाइट डिब्बे में भरकर रख लीजिए। आप उन्हें बाहर रख सकते हैं और पूरे एक महीने से ज्यादा तक खा सकते हैं। आप इन सर्दियों में ये गोंद के लड्डू बनाकर जरूर खाएं और अपने अनुभव हमारे साथ साझा करें कि आपको गोंद के लड्डू की रेसिपी किसी लगी। और हमे बताएं कि हमे आपके लिए आगे क्या बनाना चाहिए।

Stay connected to know more information about gond ke laddu recipe in Hindi गोंद के लड्डू की रेसिपी Gond ke Laddu ki Recipe in Hindi language. Like our Facebook page and follow our Instagram account.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments