Wednesday, June 19, 2024
HomeLetterLetter to Parents in Hindi माता पिता को पत्र हिंदी में

Letter to Parents in Hindi माता पिता को पत्र हिंदी में

अभिभावक को पत्र लिखिए हिंदी में फॉर्मेट के साथ। Write a letter to parents in Hindi with format for students of class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11 and 12.

Letter to Parents in Hindi माता पिता को पत्र हिंदी में

Letter to Parents in Hindi

Letter – आप अपने ग्रीष्मावकाश को घर से दूर किसी स्थान पर अपने दोस्तों के साथ बिता रहे हैं। अपने घर पर अभिभावक को पत्र लिखकर बताइए कि आप कहाँ हैं और कैसे हैं? घर छोड़ने के समय से अब तक आपने क्या-क्या किया है और अभी आप क्या करने की योजना बना रहे हैं? You are spending your summer vacation with your friends at some place away from home. Write a letter to parents at your home telling where are you and how are you in Hindi format.

बेंगलोर
8.1.2002

आदरणीय अभिभावक,

सादर नमस्ते कुछ दिन पहले मैंने आपको एक पत्र लिखा था। आशा है कि आपको मिल गया होगा। यहाँ आने पर इस यात्रा का विवरण मैंने उस पत्र में विस्तार से लिखा था। आगमन के समय, हमारी सीटें आरक्षित थीं। जब हम यहाँ पहुँचे तो उस दिन, दिन भर यात्रा करने के बाद हम बहुत थके हुए थे। तो अगले ही दिन हमने यहाँ घूमना शुरू कर दिया। यहां का मौसम बहुत सुहावना है।

यह शहर इतना स्वच्छ और सुंदर है कि यहाँ का हर नागरिक यहाँ स्वच्छता रखने को अच्छा समझता है। यहां घरों के बाहर फूल ही फूल लगे हैं। उसे प्रकृति से बड़ा लगाव है। इसे फूलों की नगरी भी कहा जाता है। यहां का तिरुपति मंदिर बेहद खूबसूरत है। यहां के प्राचीन मंदिरों की कला देखने लायक है। यहां के लोग मृदुभाषी और प्रभावशाली हैं।

मैंने बाजार से चंदन की बहुत ही सुन्दर वस्तुएँ खरीदी हैं। हम एक छोटे से गेस्ट हाउस में रुके थे। गेस्ट हाउस का खाना-पीना एकदम साफ-सुथरा था। यहां खाना सिर्फ नारियल से बनी चीजों से बनता है। गर्मी की छुट्टियों के दिन बहुत खुशी से गुजर रहे हैं। हम हर दिन कहीं न कहीं जाते हैं।

हर दिन हम एक चीज देखकर आते-जाते इतने थक जाते हैं कि खाना खाते ही तुरंत सो जाते हैं। पत्र लिखने का भी समय नहीं मिलता। आज हम यहां विधानसभा भवन देखने गए थे। हमने वहां गैलरी भी देखी और मीटिंग भी देखी। कुछ देर वहीं बैठने का मौका भी मिला। कल हम वृंदावन गार्डन जाएंगे, जो कि बैंगलोर का प्रसिद्ध उद्यान है। मैं आपको उसका विस्तृत विवरण भी दूंगा। हम पंद्रह दिन बाद आने वाले हैं। हमको भी आकर नई क्लास की तैयारी करनी है। लेकिन मेरा यहां से आने का मन नहीं कर रहा है और मैं आपको आगे बताऊंगा। अंकुश और हरमीत को मेरी तरफ से प्यार देना।

आपका पुत्र
बॉबी

Like our Facebook page and follow our Instagram account.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments