Monday, March 4, 2024
HomeLetterLetter to Son in Hindi बेटे को पत्र हिंदी में

Letter to Son in Hindi बेटे को पत्र हिंदी में

बेटे को पत्र हिंदी में – Write a letter to son in Hindi with format for students of class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, and 12.

Letter to Son in Hindi बेटे को पत्र हिंदी में

Letter to Son in Hindi

Letter 1 – पिता के बीमार होने का समाचार देते हुए माता द्वारा पुत्र को पत्र। Write a letter from mother to son in Hindi giving news of father’s illness.

12, रत्न चौंक,
गिलानी गली नंबर 6,
दिल्ली
दिनांक……

प्रिय बेटे अशोक,

खुश रहो। तुम्हारा पत्र पिछले सप्ताह प्राप्त हुआ था। मैं पत्र का उत्तर नहीं दे सकी क्योंकि अचानक तबीयत बिगड़ने के कारण मैं तुम्हारे पिता की देखभाल करने में बहुत व्यस्त थी। तुम्हारे पिता को दिखाने के लिए डॉक्टर को बुलाना पड़ा था। बेटा, अब चिंता की कोई बात नहीं है। डॉक्टर ने इंजेक्शन और दवा दे दी है और अब इनकी सेहत में सुधर भी हो रहा है। आशा है कि वे जल्द ही तंदरुस्त हो जाएंगे। तुम किसी बात की चिंता न करना और मन लगाकर पढ़ाई जारी रखना।

यदि हो सके तो दो दिन के लिए आकर एक बार अपने पिताजी से मिल जाओ। तुमसे मिलने को उनका मन बहुत करता है।

तुम्हारी माता
पायल

Letter 2 – परीक्षा में सफल होने पर पिता का पुत्र को बधाई पत्र लिखिए। Write a letter to son in Hindi congratulating him on his success in the examination.

पालिका सड़क, पटना
8.12.2002

प्रिय गोविन्द,
शुभाशीष।

यहाँ सब कुशल मनगल है। बेटे तुम्हारे बी.ए (प्रथम वर्ष) की परीक्षा बहुत अच्छे अंकों से पास करने की खुशखबरी से मुझे, तुम्हारी माँ और भाइयों और बहनों ने जो खुशी महसूस की है, उसे शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता। इसके लिए आप हमारी ओर से हार्दिक बधाई के पात्र हैं। भगवान का शुक्र है कि उनकी असीम कृपा से आपको अपनी मेहनत का उचित फल मिला है।

प्रिय गोविंद, ठीक है कि इस वर्ष परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने का श्रेय आपको मिला है, लेकिन एक बात ध्यान देने योग्य है कि इस परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करके आपने अपनी संस्था, अपना और हम सभी का गौरव बढ़ाया है, इसे बरकरार रखने के लिए आपके पास बी.ए. (द्वितीय वर्ष) परीक्षा की तैयारी अभी से शुरू हो जानी चाहिए। ऐसा करने से आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और आप और भी ज्यादा सफलता हासिल कर पाएंगे।

आपकी माँ और परिवार के अन्य सदस्य जल्द ही आपके घर पहुँचने का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे हैं। जब आप घर आ रहे हों तो पत्र मिलते ही आपको सूचित करना और तुम्हारी माँ ने कहा है की खाने में क्या खाओगे पहले ही बता देना। आशीर्वाद।

तुम्हारा शुभाकांक्षी
घनशंकर

Like our Facebook page and follow our Instagram account.

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments