Wednesday, June 19, 2024
HomeBiographyMayawati Biography in Hindi - मायावती का जीवन परिचय

Mayawati Biography in Hindi – मायावती का जीवन परिचय

आज हम बात करेंगे उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती (Mayawati) के बारे में। जानिए Mayawati Biography in Hindi, मायावती के जीवन परिचय, शिक्षा, परिवार, पति, आयु, मायावती राजनीतिक करियर, मायावती संपत्ति, नेटवर्थ और उनसे सम्बंधित और जानकारियों के बारे में।

Mayawati Biography in Hindi – मायावती का जीवन परिचय

मायावती का पूरा नाम मायावती प्रभु दास (Mayawati Prabhu Das) है। मायावती एक भारतीय पॉलिटिशन है जिन्होंने 4 बार उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री के रूप में सेवा की है। मायावती कुछ समय के लिए सबसे पहले वर्ष 1995 में और फिर दूसरी बार वर्ष 1997 में, तीसरी बार वर्ष 2002 से 2003 और चौथी बार वर्ष 2007 से 2012 तक मुख्यमंत्री रहीं। यह बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं, जो भारतीय समाज के सबसे कमजोर तबका अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों, पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यों के जीवन सुधार के लिए सामाजिक परिवर्तन के लिए काम करता है। मायावती सबसे प्रथम दलित मुख्यमंत्री होने का भी श्रेय प्राप्त है। मायावती को बहन जी, कुमारी मायावती, आयरन लेडी मायावती जैसे नामो से भी जाना जाता है।

मायावती के जीवन के बारे में बात की जाए तो इनका जन्म 15 जनवरी 1956 को नई दिल्ली के हिंदू दलित परिवार में हुआ। इनके पिता प्रभु दास बादलपुर, गौतम बुध नगर में एक डाकघर कर्मचारी थे और माँ का नाम रामरती था जो गृहिणी थी। मायावती के 6 भाई और 2 बहने है। इनके परिवार में पढ़ाई के लिए लड़को को प्राइवेट स्कूलों में भेजा जाता था, जबकि लड़कियों को सरकारी स्कूलों में भेजा जाता था। मायावती ने अविवाहित रहने का फैसला किया।

उन्होंने 1975 में दिल्ली यूनिवर्सिटी के कालिंदी कॉलेज (Kalindi College) से आर्ट्स में ग्रेजुएशन की। 1976 में उन्होंने मेरठ यूनिवर्सिटी से B.Ed और 1983 में दिल्ली यूनिवर्सिटी से LLB की पढ़ाई की। राजनीति में प्रवेश से पूर्व वह इंदरपुरी जेजे कॉलोनी, दिल्ली (Inderpuri JJ Colony, Delhi) के स्कूल में पढ़ाती थी। इसके अलावा वह भारतीय प्रशासनिक सेवा के परीक्षाओं के लिए अध्ययन भी करती थी।

मायावती की राजनीति में एंट्री की बात करें तो 1977 में काशीराम के संपर्क में आने के बाद उन्होंने Full time politician बनने का फैसला कर लिया। काशीराम के संरक्षण में वह उस समय काशीराम की कोर टीम का हिस्सा रही, जब 94 में बसपा / बीएसपी (BSP) की स्थापना हुई थी। Mayawati के पोलिटिकल कैरियर की बात करें तो 1989 में पहली बार वह बिजनौर लोक सभा उत्तर प्रदेश से संसद सदस्य निर्वाचित हुई। 1994 में उत्तर प्रदेश और राज्यसभा के लिए निर्वाचित हुई। सन 1995 में प्रथम भारतीय दलित महिला के रूप में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के पद की शपथ ली।

उत्तर प्रदेश की राजनीति में मायावती एक मजबूत स्तंभ है। मायावती के उत्तर प्रदेश में हारने के तुरंत बाद उनको 3 अप्रैल 2012 को राज्यसभा के लिए चुना गया। उन्होंने 2014 में विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा, साथ ही उनकी पार्टी समाजवादी पार्टी के खिलाफ भी चुनाव हार गई। उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया। मायावती ने उत्तर प्रदेश में लोकसभा की अधिकतम सीटें जीतने के लिए सभी प्रयास किए। लेकिन 2014 में लोकसभा चुनावों में उन्होंने एक बड़ी हार का सामना किया। 2017 में मायावती की बहुजन समाजवादी पार्टी फिर से विधान सभा चुनाव में असफल रही। पार्टी ने 403 में से 19 सीटें जीती। 2 अप्रैल 2018 को Mayawati ने राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया था।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments